दिल आखिर तू क्यों रोता है - फरहान अख्तर द्वारा हिंदी कविता के बोल

दिल आखिर तू क्यों रोता है - फरहान अख्तर द्वारा हिंदी कविता के बोल

Dil Aakhir Tu Kyun Rota Hai - Hindi Poem Lyrics by Farhan Akhtar

Amazon Prime Video Presents Dil Aakhir Tu Kyun Rota Hai - Hindi Poem Lyrics by Farhan Akhtar on the official YouTube

  • Entertainment
  • 1809
  • 11, Nov, 2021
Author Default Profile Image
Hindeez Admin
  • @hindeez

पेश है दिल आखिर तू क्यूं रोटा है, हिंदी फिल्म जिंदगी ना मिलेगी दोबारा से इमरान कुरैशी उर्फ ​​फरहान अख्तर की हिंदी कविता।

Dil Aakhir Tu Kyun Rota Hai - Lyrics 

जब जब दर्द का बादल छाया
जब गम का साया लहराया
जब सांसो पालकन तक आया
जब ये तन्हा दिल घबराय
हम ने दिल को ये समझौता:
दिल आखिर तू क्यों रोता है?

दुनिया में यूं ही होता है
ये जो गेहरे सन्ते हैं
वक्त ने सबको ही बनते हैं
थोड़ा गम है सबका किस्सा
थोड़ी धूप है सबका हिसां

आंख तेरी बेकर ही नाम है
हर पल एक नया मौसम है
क्यूं तू ऐसे पल खोता है
दिल आखिर तू क्यों रोता है

Movie credit: 

Zindagi Na Milegi Dobara

Author Default Profile Image

Hindeez Admin

  • @hindeez